चंद घंटों में बड़े बड़े मामलों को सुलझाने वाली रायगढ़ पुलिस को बदनाम करने की साजिश, इन साजिशों के पीछे है कौन, पढ़िए विस्तार से क्या था मामला।

क्या वाकई पुलिस ने सर्प मित्र के साथ अभद्र व्यवहार किया …यदि नही…तो पढ़िए इन साइड स्टोरी

 

रायगढ़ – सर्प मित्र के साथ पुलिस के अभद्र व्यवहार को लेकर सोशल मंच पर छीटाकशी का दौर जारी है । इस मामले को लेकर उत्सुकता बनी हुई है कि क्या वाकई पुलिस ने अभद्र व्यवहार किया है ? पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा तेज तर्रार अफसरों में माने जाते है विनम्र शैली के अभिषेक मीणा सर्व सुलभ अफसरों में गिने जाते है । अमीर हो या गरीब पक्ष हो या विपक्ष कोई भी उनसे आसानी से मिल सकता है । इस क्रम में सर्प मित्र विनितेश तिवारी ने भी पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा से अपने साथ हुई घटना के सिलसिले में मुलाकात की औऱ वे घटना को बताने के दौरान अपना आपा खो बैठे और पुलिसिया रवैये को लेकर अर्नगल शैली के आरोप लगाने लगे । सूत्रों की माने तो अभिषेक मीणा ने उन्हें धैर्य पूर्वक सुना औऱ संयम बरतने की सलाह दी इस पर भी उन्होने एक न सुनी और अपशब्दों का उपयोग जारी रखा जिस पर पुलिस अधीक्षक ने घंटी बजाकर ड्यूटी गार्ड को बुलाया । ड्यूटी गार्ड इस तरह के व्यवहार देखकर हतप्रभ रह गए और विनितेश तिवारी को बाहर ले जाने लगे इस दौरान विनितेश तिवारी ने ड्यूटी गार्ड के साथ भी अभद्रता पूर्वक व्यवहार करते हुए पुलिस प्रसाशन के खिलाफ धरने में बैठने व मीडिया में बयान बाजी की धमकी दी । लोकतंत्र में सबसे अधिक कार्य का भार सिर्फ पुलिस पर होता है ।
कानून व्यवस्था निर्मित करने के अलावा अपराधियो को पकड़ना न्यायपालिका के आदेशों का सुचारू रूप से पालन करवाना ठगी कालाबाजारी को रोकना सहित बहुतेरे काम पुलिस के जिम्मे होते है और पुलिस की कार्यवाही पर उंगली उठाना भी सहज होता है चुकी विनितेश तिवारी के साथ हुई घटना पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने में तनिक भी देर नही लगाई और आरोपियों की धर पकड़ में कोई कसर नही छोड़ी । उंसके बावजूद पुलिस की कार्यवाही पर भेदभाव का आरोप लगाना समझ से परे है

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,140FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles