पारंपरिक ग्रामीण परिवेश मॉडल के रूप में विकसित होगा संबलपुरी शहरी गौठान, गौठान में गौधन संरक्षण व आजीविका संवर्धन के साथ दिखेगी ग्रामीण संस्कृति की झलक, कलेक्टर श्री भीम सिंह, निगम कमिश्नर श्री जयवर्धन व जिला पंचायत सीईओ डॉ. मित्तल ने किया गौठान का निरीक्षण.

पारंपरिक ग्रामीण परिवेश मॉडल के रूप में विकसित होगा संबलपुरी शहरी गौठान, गौठान में गौधन संरक्षण व आजीविका संवर्धन के साथ दिखेगी ग्रामीण संस्कृति की झलक, कलेक्टर श्री भीम सिंह, निगम कमिश्नर श्री जयवर्धन व जिला पंचायत सीईओ डॉ. मित्तल ने किया गौठान का निरीक्षण

रायगढ़, 10 नवंबर 2021/ प्रदेश का एकमात्र गौ-अभ्यारण शहरी गौठान संबलपुरी पारंपरिक ग्रामीण परिवेश गौठान मॉडल के रूप में विकसित होगा। कलेक्टर श्री भीम सिंह ने गौठान का निरीक्षण कर गौठान संचालन से संबंधित समस्त जरूरी व्यवस्था के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।
शहरी गौठान संबलपुरी करीब 20 एकड़ भूमि पर स्थापित किया गया है, जहां वर्तमान में एक हजार से ज्यादा गौधन को रखकर उनकी सेवा की जा रही है। कलेक्टर श्री भीम सिंह, निगम कमिश्नर श्री एस. जयवर्धन, जिला पंचायत सीईओ डॉ.मित्तल ने आज सुबह गौठान के संपूर्ण परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने गौठान के संचालन करने वाली गौ सेवा मित्र समिति के संचालक से गौठान में होने वाले गोबर विक्रय की जानकारी ली। इसके साथ ही महिला समूहों से वर्मी कंपोस्ट उत्पादन के संबंध में भी जानकारी ली गई। गोबर विक्रय करने से लेकर वर्मी कंपोस्ट उत्पादन और बिक्री करने संबंधित समस्त पंजी का तय फार्मेट में संधारण करने के निर्देश कलेक्टर श्री सिंह ने दिए। इसी तरह गोबर खरीदी व वर्मी कंपोस्ट उत्पादन बिक्री से संबंधित डाटा ऑनलाइन भी फीड करने की बात कलेक्टर श्री सिंह ने कही। इस दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने छत्तीसगढ़ के ग्रामीण पारंपरिक परिवेश अनुसार गौठान को विकसित करने की बात कही। शेड निर्माण के साथ मल्टी एक्टिविटी सेंटर और चारागाह भी विकसित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि एक साथ इतने मवेशियों को रखने और उनकी सेवा करने वाला प्रदेश का यह पहला संस्थान है। इसलिए गौठान की प्रदेश के ग्रामीण अंचल के मॉडल गौठान के रूप में अपनी अलग पहचान होगी। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि इतने बड़े स्तर पर गौठान का संचालन के लिए सभी विभागों को सामंजस्य के साथ कार्य करना होगा। उन्होंने कृषि, पशुधन, निगम, जिला पंचायत, जनपद पंचायत और गौठान समिति के पदाधिकारी व महिला स्व-सहायता समूह के सदस्यों से सामंजस्य स्थापित कर सकारात्मक कार्य करने के निर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर श्री सिंह व अन्य अधिकारियों ने गौधन को हरा चारा भी खिलाया। निरीक्षण के दौरान डीएफओ रायगढ़ डॉ.प्रणय मिश्र, उपसंचालक पशुपालन डॉ आर.एच.पांडेय सहित अन्य संबंधित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
*मल्टी एक्टिविटी सेंटर में बढ़ाएं गतिविधियां*
निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने गौठान में मल्टी एक्टिविटी सेंटर में किये जा रहे कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने यहां गतिविधियों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने गौठान के प्रवेश द्वार के पास जो कि मुख्य मार्ग से लगा हुआ है वहां महिला समूहों द्वारा पारम्परिक व्यंजनों की कैंटीन संचालित करने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि मल्टी एक्टिविटी के अंतर्गत मुर्गी पालन, मछली पालन, अन्य उत्पाद निर्माण शुरू करने पर गौठान के लिए कार्य करने वाली स्व-सहायता महिलाओं के सदस्यों को अतिरिक्त आय मिलेगी। उनकी आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी। इससे गौठान से जुड़े महिला स्व-सहायता समूह के सदस्य अतिरिक्त रूचि लेकर गौठान में कार्य करेंगे।
*चारागाह विकास करने के निर्देश*
निरीक्षण के दौरान गौठान से लगे चारागाह का भी कलेक्टर श्री सिंह ने जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने चारागाह में उगे नेपियर घास व अन्य की सराहना की और गौठान मे रहे मवेशियों के खानपान को ध्यान में रखते हुए अतिरिक्त वन भूमि पर चारागाह विकसित करने के निर्देश डीएफओ व उप संचालक पशुपालन को दिए। इस दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि गौठान में रह रहे सभी मवेशियों का स्वास्थ्य से लेकर खानपान की व्यवस्था महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। इसकी पूर्ति हर हाल में होनी चाहिए। हरे चारे के साथ ही उन्होंने गौठान में सूखे चारे की व्यवस्था के लिए पैरा दान करवाने के निर्देश सीईओ जनपद को दिए। साथ ही पैरा ट्रीटमेंट की व्यवस्था करने के लिए भी कहा। आगामी ठंड के मौसम को ध्यान रखते हुए गौधन के लिए पर्याप्त जरूरी व्यवस्थाएं करने के लिए भी उन्होंने निर्देशित किया।


*कलेक्टर श्री सिंह ने नवजात बछड़े को गोद में उठाकर किया स्नेेह*
कलेक्टर श्री भीम सिंह ने गौठान निरीक्षण के दौरान यहां नवजन्म मवेशियों की जानकारी ली। इस दौरान मवेशियों के बच्चों को देख कलेक्टर श्री सिंह अपने आप को रोक नहीं पाए। उन्होंने गाय के बछड़े को गोद में लेकर खूब स्नेह किया। इस दौरान उन्होंने दुग्ध उत्पादन की दृष्टि से उच्च श्रेणी के मवेशी गौठान में रखकर दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने और उससे अतिरिक्त आय कमाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।


*यथासंभव सहयोग करने की अपील*
कलेक्टर श्री भीम सिंह ने कहा कि गौठान संचालन के लिए शहरवासियों से यथासंभव सहयोग करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि एक साथ एक हजार से ज्यादा मवेशियों को रखकर उनकी रहने, खानपान और स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था की जा रही है। जन सहयोग से ये व्यवस्थाएं और बेहतर की जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व में यहां शहर के सम्मानीय नागरिकों द्वारा गौठान में आकर जन्मदिन मनाने, विभिन्न पर्वों में आकर गौधन के लिए चारे व अन्य व्यवस्थाओं के लिए सहयोग प्रदान किया जाता रहा है। कलेक्टर श्री सिंह ने शहर के गणमान्य नागरिकों से अधिक से अधिक संख्या में गौठान के मवेशियों के रख-रखाव, खानपान और गौठान संचालन के लिए सहयोग की अपील की है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,137FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles